Breaking News

हिन्दी में ज्योतिष पत्रिका

बुध के उपाय लाल किताब के अनुसार

mercury remedies lal kitab

कुण्डली में बुध शुभ होता हुआ भी फलकारक न हो तो निम्न उपाय शुभ होंगे- हरे रंग का पन्ना बुधवार को सोने की अँगूठी में धारण करना। हरे रंग के वस्त्रों को पहनना तथा हरे रंग के पर्दे लगाना शुभ होगा। हरे रंग की नाड़ी, स्कूटर या साइकिल आदि का प्रयोग करना। बुधवार के दिन पिंजरे में कंठी वाला तोता ...

Read More »

करवा चौथ व्रत कथा – Karva Chauth Katha in Hindi

karva chauth katha in hindi

एक साहूकार के सात लड़के और एक लड़की थी। एक बार कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को सेठानी सहित उसकी सातों बहुएं और उसकी बेटी ने भी करवा चौथ का व्रत रखा। रात्रि के समय जब साहूकार के सभी लड़के भोजन करने बैठे तो उन्होंने अपनी बहन से भी भोजन कर लेने को कहा। इस पर बहन ...

Read More »

मंगल के उपाय लाल किताब के अनुसार

Lal Kitab Remedy Mars

मंगल के उपाय  लाल किताब के अनुसार जब कुण्डली में मंगल शुभ एवं योग कारक होता हुआ भी फल न करता हो तो निम्नलिखित उपाय शुभ होंगे। पञ्चांग दिवाकर में लिखी विधि अनुसार मूँगा ताम्बे की अँगूठी में धारण करना अथवा ताम्बे का कड़ा पहनना। मंगलवार को घर में गुलाब का पौधा लगाना तथा 108 दिन तक रात को ताम्बे ...

Read More »

चन्द्रमा के उपाय लाल किताब के अनुसार

moon remedies hindi lal kitab

जन्म कुण्डली अथवा वर्ष कुण्डली में चन्द्रमा शुभ होते हुए भी यदि किसी कारणवश शुभ फल पूर्णतया प्रकट न कर रही हो तो लाल किताब में निम्नलिखित उपाय प्रतिपादित किये गए हैं। शुभ चन्द्र की स्थिति में – चाँदी के बर्तनों का प्रयोग करना एवं चारपाई के पायों में चाँदी के कील ठुकवाना। सफ़ेद मोतियों की माला अथवा चाँदी की ...

Read More »

शनि साढ़ेसाती के उपाय – shani sade sati remedies in Hindi

sade satti remedies

शनि के साढ़ेसाती के अशुभ प्रभावों को कम करने के लिए दान, पूजन, व्रत, मंत्र, आदि उपाय किए जा सकते हैं। इसके लिए शनिवार को काला कम्बल, उड़द की दाल, काले तिल, चर्म-पादुका, काला कपुमा, मोआ अनाज, तिल और लोहे का दान करना चाहिए। शनिदेव की पूजा एवं शनिवार का व्रत रखना चाहिए। उपवास के दिन उड़द की दाल से ...

Read More »

गण्डमूल नक्षत्रों के बारे में जानकारी

gandmool nakshatra

गण्डमूल दोष क्या है। बच्चे के जन्म के साथ ही सबसे पहले परिवार के मुखिया यह जानने के लिए उत्सुक रहते हैं कि बच्चा गण्डमूल (सगनी) तो नहीं है। 27 नक्षत्रों को 9-9 भागों में बांटा है प्रत्येक भाग का पहला एवं 9वां नक्षत्र गण्डमूल नक्षत्र कहलाता है। इन नक्षत्रों में बालक या बालिका का जन्म अशुभ माना जाता है। ...

Read More »