Breaking News

ज्योतिष पत्रिका

शनि के उपाय लाल किताब के अनुसार

Shani Lal Kitab upay

कुण्डली में यदि शनि गृह शुभ एवं योग कारक होता हुआ भी शुभ फल प्रकट न कर रहा हो, तो निम्न उपाय लाभ प्रदायक होंगे। ‘पञ्चांग दिवाकर’ में लिखी विधि अनुसार नीलम धारण करना शुभ होगा। उसके अभाव में नाव के कील की अँगूठी अथवा काले घोड़े के नाल(खुरी) की अँगूठी बनवाकर मध्यमा अंगुली में धारण करना। पंचाग में लिखी ...

Read More »

शुक्र के उपाय लाल किताब के अनुसार

venus remedy lal kitab

कुण्डली में यदि शुक्र शुभ एवं योगकारक होता हुआ भी फलीभूत ना हो रहा हो, तो निम्नलिखित उपाय कल्याणकारी होंगे- पञ्चांग दिवाकर में लिखी विधि अनुसार हीरा अथवा शुक्र यन्त्र धारण करें। चाँदी के आभूषण शुक्र के दिन या शुभ मुहूर्त में धारण करें। चाँदी की कटोरी में सफ़ेद चन्दन, मुश्कपुर, सफ़ेद पत्थर का टुकड़ा रखकर सोने वाले कमरे में ...

Read More »

Nazar se bachne ke upay in hindi – नज़र उतारने के टोटके

nazar utarne ka totka

कोई व्यक्ति जब अपने सामने के किसी व्यक्ति अथवा उसकी किसी वस्तु को ईर्ष्यावश देखे और फिर देखता ही रह जाए, तो उसकी नजर उस व्यक्ति या उसकी वस्तु को तुरंत लग जाती है। ऐसी नजर उतारने हेतु विशेष प्रयत्न करना पड़ता हैं अन्यथा नुकसान की संभावना प्रबल हो जाती है।   बच्चे ने दूध पीना या खाना छोड़ दिया ...

Read More »

बृहस्पति के उपाय लाल किताब के अनुसार

brihaspati upay lal kitab

जन्म कुण्डली में बृहस्पति शुभ होता हुआ भी शुभ फल प्रकट ना कर रहा हो तो निम्नलिखित उपाय करना चाहिए- पञ्चांग दिवाकर में लिखी विधि अनुसार पुखराज नग वीरवार को सोने या चाँदी की अँगूठी में धारण करना। इसके अभाव में हल्दी की गाँठ पीले रंग के धागे में बाँध कर दाई भुजा में बाँधना। सताईस गुरुवार केसर का तिलक ...

Read More »

बुध के उपाय लाल किताब के अनुसार

mercury remedies lal kitab

कुण्डली में बुध शुभ होता हुआ भी फलकारक न हो तो निम्न उपाय शुभ होंगे- हरे रंग का पन्ना बुधवार को सोने की अँगूठी में धारण करना। हरे रंग के वस्त्रों को पहनना तथा हरे रंग के पर्दे लगाना शुभ होगा। हरे रंग की नाड़ी, स्कूटर या साइकिल आदि का प्रयोग करना। बुधवार के दिन पिंजरे में कंठी वाला तोता ...

Read More »

करवा चौथ व्रत कथा – Karva Chauth Katha in Hindi

karva chauth katha in hindi

एक साहूकार के सात लड़के और एक लड़की थी। एक बार कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को सेठानी सहित उसकी सातों बहुएं और उसकी बेटी ने भी करवा चौथ का व्रत रखा। रात्रि के समय जब साहूकार के सभी लड़के भोजन करने बैठे तो उन्होंने अपनी बहन से भी भोजन कर लेने को कहा। इस पर बहन ...

Read More »